Cycle Ka Avishkar किसने किया और कैसे हुआ? साइकिल का आविष्कार जाने खास जानकारी

Cycle Ka Avishkar: हाल ही में साइकिल हमारे जीवन में बहुत ही चलित साधन है। इस साधन के माध्यम से हम छोटी-छोटी दूरियाँ तय करते हैं साथ में कुछ समय पहले हम बहुत लंबी दूरी भी तय करते थे, साइकिल के आविष्कार (invention of bicycle) के बारे में यह जानकारी आपको काफी नॉलेज प्रदान करेगी।जानते हैं Cycle Ka Avishkar कब और कैसे हुआ खास रिपोर्ट!

साइकिल का आविष्कार (Cycle Ka Avishkar)

आइयेगा आज हम जानते हैं Cycle Ka Avishkar ke बारे में, वैसे साइकिल का आविष्कार जरुरत नहीं पड़ती है। लेकिन आज बहुत कम लोग साइकिल का इस्तेमाल करते हैं देसी देखा जाए तो आज के मॉडर्न व्हीकल की शुरुआत कहीं न कहीं साइकिल से ही हुई थी। एक तरफ जहाँ पूरी वर्ल्ड वायु प्रदूषण जैसी समस्या से जूझ रही है तो वहीं cycle एक ऐसा साधन बन चुका है जिसके इस्तेमाल करने से हमारे पर्यावरण को न के बराबर नुकसान है और इसके इस्तेमाल करने से हमारे सेहत को भी काफी फायदा होता है।

Cycle साधन का इतिहास

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि साइकिल को आज कल दुनियाभर के लोग चलित साधन के रूप में उपयोग करते हैं यह एक ऐसा साधन है जो वर्ल्ड का सबसे सस्ता ट्रांसपोर्ट व्हीकल कह सकते है। इसलिए कि इसे चलाने के लिए किसी भी प्रकार के ईधन की जरूरत नहीं पड़ती है।

वैसे सरकार छोटी-छोटी दूरी तय करने के लिए साइकिल का इस्तेमाल करने की सलाह देती है हालाकि आज कल इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल का समय आ गया हैं। साइकिल का इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार का वायु प्रदूषण नहीं होता है । वैसे देखा जाए तो इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल के माध्यम से हम ज्यादा-ज्यादा दूरी तय कर सकते हैं।ऐसे में इन इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल के प्रयोग से पर्यावरण साफ रहेगा।

आप सोच रहे होगे कि आज हम जिस साइकिल (Cycle) का इस्तेमाल करते हैं उसका आविष्कार (Avishkar) कुछ दिनों के अन्दर हो गया होगा, तो ऐसा बिलकुल ही नहीं, जी वर्तमान में दिखने वाली साइकिलों का निर्माण पिछले 100 वर्षों में अलग-अलग प्रयोग के चलते हुआ है।

किसने किया था और कब हुआ Cycle Ka Avishkar

आप सोच रहे होंगे की साइकिल का आविष्कार किसने किया था। अगर आप भी जानना चाहते है कि साइकिल की खोज (Cycle Ki khoj) किसने की थी? तो बता दे साइकिल का आविष्कार (Cycle Ka Avishkar) जर्मनी के वन अधिकारी कार्ल वॉन ड्राइसो (Karl Von Drais) ने किया था ।

Cycle Ka Avishkar

दुनिया की इस पहली साइकिल का आविष्कार (Bicycle का Invention) आज से लगभग 200 साल पहले सन् 1817 में हुआ था। Karl Von Drais (कार्ल वॉन ड्राइसो) यूरोप के बाइडेर्मियर काल के एक प्रसिद्ध आविष्कारक थे। Cycle के अलावा उन्होंने और भी चीजों का Avishkar किया था।

कार्ल वॉन ड्रैस (Karl Von Drais) ओर किये अविस्कर्

Karl Von Drais (कार्ल वॉन ड्राइसो) यूरोप के बाइडेर्मियर काल के दवारा सन् 1812 में कागज पर पियानो संगीत Record करने वाला एक प्रकार का उपकरण, सन् 1817 में सामान ले जाने के लिए साइकिल, अच्छा टाइपिंग 1821 में कीबोर्ड वाला शुरूआती टाइपराइटर,

सन् 1827 में 16 अक्षरों वाली स्टेनोग्राफ मशीन और दुनिया की पहली Meat Grinder Meat Grinder बनाने की मशीन बनाने का श्रेय भी कार्ल वॉन ड्रैस को जाता है इस तरह से इनके पास अनेक उपलब्धियाँ मौजूद थी।

सर्वप्रथम Cycle का आविष्कार कैसे और कब हुआ?

शुरुआत में एक साधन यंत्र के रूप में निर्माण कैसे और किस धातु से हुआ यह जाने, साइकिल सर्व प्रथम सिर्फ लकड़ियों से बनाई गयी थी जिसमें न कोई पैडल होता था और न ही कोई गियर इसे चलाने के लिए, Cycle चलाने के लिए एक व्यक्ति को धक्का लगाना पड़ता था, साथ ही हाथों को सहारा देने के लिए और साइकिल के मार्गदर्शन के लिए एक हेडल का निर्माण किया गया था।

सर्वप्रथम Karl Von Drais के द्वारा बनाई गयी लकड़ी की Cycle का वजन 23 किलोग्राम का था अपने इस आविष्कार को वर्ल्ड के सामने लाने के लिए इन्होने दिनाक 12 / 7 / 1817 को जर्मनी के दो शहर Mannheim and Rinau के बीच Cycle चलाकर लोगों के सामने प्रदर्शित किया था। उस दौरान 7 किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए लगभग 1 घंटे से अधिक का समय लगा था।

हाल ही में साइकिल का आविष्कार (Cycle Ka Avishkar)

जैसा कि दोस्तो आपको पता चल गया होगा कि साइकिल को लकड़ी से बनाया गया था।जिसे चलाने के लिए पैडल नहीं हुआ करते थे।ऐसे में वर्ल्ड की पहली पेडल वाली cycle सन् 1863 में फ्रांस (France) के एक मैकेनिक पियरे लालेमेंट (Pierre Lallement) द्वारा बनायी गयी थी।

पहले उस cycle अगले पहिये में पैडल बनाया गया था, आज की साइकिल में पैडल फ्रेम के बीच में होता है जो एक चैन के द्वारा पिछले पहिये से कनेक्सन होता है और इस तरह की डिजाइन करके कई प्रयोगों के बाद साइकिल का निर्माण होता रहा। John Kemp ने सन् 1885 में पहली बार, आज की तरह दिखने वाली साइकिल को मार्केट में लाया गया।

भारत में साइकिल का चलन

दोस्तों ऊपर दिए गए कंटेंट के माध्यम से आपने जाना कि साइकिल का आविष्कार (Cycle Ka Avishkar) किसने किया था? और कब हुआ? जहाँ तक भारत की बात करे तो साइकिल के आविष्कार और इसके विकास के समय भारत में अंग्रेजों के शासन काल में हुआ था।कहा जाय तो हमारे देश में इसे अंग्रेज लोग ही लेकर आये थे।

जबकि भारत में साइकिलों का निर्माण (Bhart me Cycle Ka nirman) साल 1942 में शुरू किया गया था, भारत में साइकिल बनाने वाली कंपनी का नाम Hind Cycle था जिसे मुंबई महाराष्ट्र में स्थापित क्या गया था।

निष्कर्ष

ऊपर दिए गए कंटेंट के माध्यम से आपने यह जाना की साइकिल का आविष्कार (Cycle Ka Avishkar) कब और किसने किया? सर्वप्रथम साइकिल किस धातु से बनी थी? भारत में साइकिल का चलन कब और कैसे हुआ? किन लोगों के माध्यम से भारत में साइकिल का आगमन हुआ।तमाम प्रकार की जानकारी पढ़ी। आशा है ऊपर दी गई जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी और आविष्कार से रिलेटेड जानकारी पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जरूर क्लिक करें धन्यवाद।

ये भी पढ़े

Leave a Comment